Classic Missionary ka Arth - Classic Missionary Meaning in Hindi

Classic Missionary का अर्थ क्या है आइए जानते है। वास्तव में, संभोग करने समय बहुत सी पोजिशन का इस्तेमाल किया जाता है। अगर अपने कभी संभोग किया हो, तो आप अच्छे से जानते होगे।

इन सभी पोजिशन में डोग स्टाइल,क्लासिक मिशनरी आदि शामिल है। अगर आपको नहीं पता कि Classic Missionary Meaning in Hindi, Classic Missionary ka arth kya Hota hai hindi me क्या होता है। तो आपको जरूर इस लेख को पूरा पढ़ने की सलाह देने, क्यूंकि यह एक व्यक्तिगत जीवन शैली से संबंधित जानकारी है, जिसे आपको जरूर जाना चाहिए।

Classic Missionary Meaning in Hindi | Classic Missionary ka Arth kya hota hai | Classic Missionary का मतलब क्या होता है - 

क्लासिक मिशनरी संभोग बनते समय और संभोग करते समय किए जानने वाली पोजिशन है। जिसमे महिला नीचे बेड पर या किसी और पलायन चीज पर पीट के बल लेटी होती है। और पुरुष महिला के ऊपर रहता है।

Classic Missionary एक बहुत लोकप्रिय पोजिशन हैं और ज्यादातर महिला इसी पोजिशन से संभोग करना पसंद करती है। आपको बता दे, इस परिस्थिति में पुरुष और महिला का मुंह एक दूसरे के सामने होता है जिसमें वह eye contact भी करते है। रिसर्च के मुताबिक यह पोजिशन जितनी लोकप्रिय पोजिशन है। उतनी ही बोरिंग,पर ज्यादा इस पोजिशन से संभोग करने में ज्यादा मज़ा आता है। 

Classic Missionary ka arth kya hai - 

Classic Missionary का अर्थ "संभोग की एक अवस्था" होता है हिंदी में।

Gujarati में Classic Missionary का मतलब " સંભોગની સ્થિતિ"

मराठी में संभोगाची अवस्था होता है. क्लासिक मिशनरी का अर्थ।

Read more - 

पैसे कैसे कमाए जानिए 🔥

अपने क्या सिखा - 

इस लेख में अपने Classic Missionary Meaning in Hindi से संबंधित जानकारी हासिल की है। और Classic Missionary ka arth kya hota hai Hindi, Punjabi, Gujarati, Marathi और अन्य भाषा में जाना है। अगर आपको इस लेख से जुड़ी कोई समस्या है तो आप बता सकते है। 

Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url