बीपीएससी (BPSC) का फुल फॉर्म क्या है?: Full form of BPSC ,योग्यता,पद,वेतन

BPSC Full form Information in Hindi : हर राज्य का अपना लोक सेवा आयोग होता है। जो अपने राज्य के युवा को सरकारी नौकरी करने के लिए मोका देती है। जैसे राष्ट्रीय स्तर के लिए उत्तरप्रदेश में यूपीएससी (Union Public Service Commission) और राज्य स्तर के लिए राजस्थान में आरपीएससी (Rajasthan Public Service Commission) में सभी परीक्षाएं इनके द्वारा आयोजित होती है। ठीक वैसे ही, बिहार राज्य में भी बीपीएससी राज्य स्तर की शिक्षा आयोजित करने के लिए एक संगठन है। 
Bpsc full Form in hindi, bpsc ka full Form, bpsc meaning in hindi, bpsc kya hai
जो बिहार राज्य के युवा को सरकारी नौकरी देने के लिए हर साल अधिसूचना जारी करता है। पर क्या आप जानते है कि BPSC Kya hai, BPSC ki History, BPSC full form in Hindi, BPSC के लिए qualification और बीपीएससी से संबंधित अन्य जानकारी के बारे में, यदि आप इस विषय से संबंधित यरा भी नहीं जानते तो आज का आर्टिकल आपकी मदद कर सकते है। बीपीएससी की पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए, इस लेख में BPSC ka full form kya hota hai और BPSC का मतलब क्या होता है इस बारे में भी आप जानेंगे। तो आइए बिना वक्त गंवाए इस लेख को शुरू करते हैं।

BPSC full form : बीपीएससी का मतलब और पूरा नाम क्या है? 

बीपीएससी का फुल फॉर्म (BPSC ka full form) Bihar Public service Commission होता है।

BPSC Full form in Bihar in English - 

B - Bihar
P - Public
S - Service
C - Commission 

BPSC full form in Hindi : बीपीएससी का फुल फॉर्म क्या होता है? 

बीपीएससी फुल फॉर्म हिंदी में बिहार पब्लिक सर्विस कमीशन होता है। अर्थात इसे बिहार लोक सेवा आयोग के नाम से जाना जाता है। यह संगठन हर साल बिहार के लोगों को सिविल सर्विस करने का मौका देती है, जो उम्मीदवार इस परीक्षा में सफल होता है उन्हें बिहार राज्य मशीनरी में एक सिविल सेवक के तौर पर नौकरशाह बनाया जाता है।

BPSC क्या होता है | What is BPSC in Hindi - 

बीपीएससी का पूरा नाम बिहार लोक सेवा आयोग होता है। BPSC, भारत के बिहार राज्य में एक सरकारी संगठन है जो राज्य में विभिन्न सिविल सेवा पदों के लिए भर्ती और परीक्षा आयोजित करने के लिए जिम्मेदारी  होता है और बीपीएससी राज्य सरकार में प्रशासनिक अधिकारियों, पुलिस अधिकारियों और अन्य सिविल सेवा पदों जैसे पदों के लिए परीक्षा भी आयोजित करता है।

BPSC का इतिहास क्या है? History of BPSC in Hindi 

बीपीएससी की शुरुआत 1949 में भारत सरकार अधिनियम 1935 के प्रावधानों के तहत की गई थी। इसकी स्थापना करके का उद्देश्य बिहार राज्य में तरह तरह की उच्च और कम पदों के लिए विभिन्न सिविल सेवा करवाना, पदों के लिए भर्ती करवाना और परीक्षा आयोजित करवाने के उद्देश्य से शुरू करी थी।

बीपीएससी (बिहार पब्लिक सर्विस कमीशन) ने पिछले कुछ सालों में बिहार प्रशासनिक सेवा, बिहार पुलिस सेवा और बिहार शिक्षा सेवा जैसे विभिन्न पदों के लिए बहुत सी परीक्षाएं आयोजित कराई हैं। आपको बता दे, कि बीपीएससी ने शुरुआती वर्ष में कुछ ही पदों के लिए परीक्षा आयोजित करवाए थी।

जिस कारण से उन पदों के लिए कुछ ही उम्मीदवार परीक्षा के लिए बैठे थे। वर्तमान समय में ऐसा अब नहीं है क्योंकि Bihar Public Service Commission (BPSC) अब बहुत से विभिन्न पदों के लिए परीक्षा आयोजित कर रहा है, जिसे उम्मीदवार की संख्या हजारों में नजर आ रही है। आज के कुछ साल पहले BPSC ने भर्ती प्रक्रिया की पारदर्शिता और निष्पक्षता में सुधार के लिए कई उपाय लागू किए हैं। आज, बिहार लोक सेवा आयोग सिविल सेवाओं के लिए एक अच्छे उम्मीदवार की भर्ती करके राज्य के भविष्य को ठीक करके के लिए एक काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

BPSC ke liye qualification - बीपीएससी के लिए योग्यता क्या है 

बीपीएससी (Bihar Public Service Commission) द्वारा आयोजित किसी भी परीक्षा में यदि आप भाग लेना चाहते हैं तो उन परीक्षाओं के लिए क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिए आपको इस बात पर जरूर सोचना चाहिए। क्योंकि यह हर परीक्षा के लिए एक जैसी योग्यताएं है आइए इन योग्यताओं के बारे में नीचे जानते हैं।

निवास स्थान : व्यक्ति का स्थान बिहार राज्य का होना चाहिए।

BPSC Age Limit : बीपीएससी में आयु सीमा 21 वर्ष से अधिक होनी चाहिए और 30 वर्ष से कम होनी चाहिए इसके अलावा है अन्य जाति के आयु की छूट है।

BPSC Education Qualification : बीपीएससी में शैक्षणिक योग्यता स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी होनी चाहिए, इसके अलावा अंक मायने नहीं रखते है।

इसके अलावा बिहार राज्य के व्यक्ति ही बिहार लोक सेवा आयोग के लिए बैठ सकते हैं आपको बता दें, बिहार लोक सेवा आयोग का फॉर्म सिर्फ वहीं व्यक्ति बढ़ सकता है जिसने बिहार राज्य में यूनिवर्सिटी या कॉलेज से ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की है।

यह थी कुछ योग्यताएं जिनका पालन आपको जरूर करना है, BPSC Exam form Fill करते समय, इसके अलावा अगर अपने कि और डिप्लोमा कोर्स किया है तो आप इस परीक्षा के लिए योग्य नहीं रहेंगे। 

इस लेख में अपने अभी तक BPSC ka full form और बीपीएससी की history के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की है। अगर आप बिहार राज्य के निवासी है और आपकी आयु 21 से अधिक और 30 वर्ष से कम है,तो इस परीक्षा के लिए योग्य है।

BPSC Ka Syllabus kya Hota hai | बीपीएससी का सिलेबस क्या होता है

किसी भी परीक्षा को देने के लिए तैयारी बहुत जरूरी होती है और अगर आप जान ले, BPSC ka syllabus तो इसे अच्छी बात क्या होगी, एग्जाम की तैयारी करने के लिए, पर आपको बता दे। 

BPSC Exam ka syllabus आसान और छोटा बिल्कुल भी नहीं है, इस करने के लिए के लिए काफी टाइम लग सकता है। पर बीपीएससी की परीक्षा आयोजित तीन चरणों में की जाती है जैसमे - prelims Exam, Mains Exam और interview शामिल है।

Prelims Exam (प्रारंभिक परीक्षा) 

Bihar Public Service Commission द्वारा आयोजित परीक्षा का यह पहला एग्जाम होता है।जिसमे Objective Types Question पूछे जाते है। यह प्रशन 150 अंकों के होते हैं जिसे करने के लिए 3 घंटे का समय दिया जाता है। इस परीक्षा में बैठने के लिए उम्मीदवार को सामान्य ज्ञान, गणित, तार्किक शक्ति आदि का ज्ञान होना चाहिए।

Mains Exam (मुख्य परीक्षा) 

बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित परीक्षा यह दूसरी परीक्षा है। इस परीक्षा को 3 लिखित परीक्षा से पूरा किया जाता है, आपको बता दे इस परीक्षा को हल करने के लिए 3 घंटे का समय दिया जाता है।

इस एग्जाम के सिलेबस में राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय, चित्रण,भारतीय प्रौद्योगिकी और विज्ञान, भारत का आधुनिक इतिहास, भारतीय अर्थव्यवस्था, राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय महत्व की वर्तमान की घटना, भारतीय भूगोल, संख्याकी विश्लेषण आदि शामिल है। इन्हीं विषय से प्रश्न पूछे जाते हैं।

Interview (साक्षात्कार) -

यह लास्ट परीक्षा है और इस परीक्षा में वही उम्मीदवार जा सकता है जिसने पहला चरण और दूसरा चरण वाली परीक्षा पास की हो, लास्ट एक्स में उम्मीदवार को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। 

तीनों चरणों को पास करने के लिए उम्मीदवार बीपीएससी परीक्षा में सफलता पूर्ण सफल हो जाता है।

BPSC में कौन कौन से पोस्ट आते हैं? 

बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित परीक्षा में बहुत से पदों के लिए परीक्षा आयोजित होती है, (BPSC All Post list in Hindi)c इन परीक्षाओं में यह सब पद शामिल होते हैं।
  • भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण
  • सहायक अधीक्षक- जेल
  • जिला लेखा परीक्षा अधिकारी
  • नगर कार्यकारी अधिकारी
  • अवर निरीक्षक
  • इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारी
  • सहायक परियोजना अधिकारी/सहायक निदेशक
  • सहायक योजना अधिकारी
  • उप अधीक्षक
  • पुलिस हवलदार
  • योजना अधिकारी/जिला योजना अधिकारी
  • पुलिस अधीक्षक
  • ग्रामीण विकास अधिकारी
  • गन्ना अधिकारी
  • सहायक निदेशक – बाल संरक्षण
  • ग्रामीण विकास अधिकारी
  • खंड विकास अधिकारी 
  • सहायक रजिस्ट्रार
  • सहायक निदेशक – सामाजिक सुरक्षा
यह कुछ मुख्य पदों है बीपीएससी में, जिनके लिए परीक्षा दे सकते है।

BPSC Exam कौन दे सकता है - 

इस परीक्षा को सिर्फ बिहार राज्य के युवा से सकता है क्यूंकि बीपीएससी सिर्फ बिहार राज्य के लिए परीक्षा आयोजित करती है, इसलिए किसी दूसरे राज्य के युवा इस परीक्षा के लिए योग्य नहीं है।

इस परीक्षा को देने के लिए उम्मीदवार का स्थान निवास बिहार का होना जरूरी है और शैक्षणिक योग्यता भी बिहार राज्य के विश्वविद्यालय द्वारा स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी होनी चाहिए, यह सब पात्रता मापदंड होने पर ही आप इस BPSC Exam को दे सकते है।

बीपीएससी (BPSC) का मतलब क्या होता है - 

बीपीएससी का मतलब Hindi में बिहार लोक सेवा आयोग होता है और English में BPSC का पूरा नाम Bihar Public Service Commission होता है। यह राज्य स्तर की परीक्षा है इस परीक्षा को बीपीएससी द्वारा आयोजित करवाया जाता है ताकि बिहार राज्य के युवा को अपने सपने पूरे करने और बिहार राज्य के विकास के लिए परीक्षा आयोजित करवाई जाती है।

जिस तरह यूपीएससी है ठीक वैसे ही बीपीएससी है, पर संघ लोक सेवा आयोग राष्ट्रीय स्तर के लिए परीक्षा आयोजित करता है और बीपीएससी राज्य स्तर के लिए परीक्षा लेता है।

IAS का फुल फॉर्म क्या है और आईएएस कैसे बने - 

आईएएस का फुल फॉर्म Indian Administrative service होता है। यह एक उच्च स्तर का सरकारी पद है जिसे संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा आयोजित करवाता जाता है। आईएएस भारत सरकार की सिविल सेवा है जिसका गठन 1947 में हुआ था। इस परीक्षा को देने के लिए उम्मीदवार के लिए कुछ पात्रता मापदंड यूपीएससी द्वारा जारी किए गए हैं जिनका पालन करके आप इस पद के लिए परीक्षा दे सकते हैं।

BPSC की सैलरी कितनी होती है | BPSC ki Salary - 

बीपीएससी बहुत से पदों के लिए परीक्षा आयोजित करती है इसलिए किसी एक पद की सैलरी के बारे में बताना उचित नहीं रहेगा। पर फिर भी बीपीएससी की सैलरी उच्च पद और छोटे पद के लिए अलग-अलग होती है दरअसल बीपीएससी में उच्च पद को 50,000 से अधिक वेतन दी जाती है और छोटे पद को 30,000 से कम वेतन दी जाती है। समय के साथ अच्छा अनुभव होने पर वेतन बढ़ भी सकती है। 

FAQ : Full form of BPSC in Hindi - 

BPSC को हिंदी में क्या कहते है - 

हिंदी में बीपीएससी को बिहार लोक सेवा आयोग कहते है।

BPSC और UPSC में क्या अंतर है - 

BPSC ka full form - Bihar Public Service Commission होता है और UPSC ka full Form - Union Public Service Commission होता है।
दोनों ही संगठन सिविल सेवा के लिए परीक्षा आयोजित करता है। पर यूपीएससी नेशनल लेवल के लिए करता है और बीपीएससी स्टेट लेवल के लिए करता है। 

बीपीएससी (BPSC Exam) के लिए योग्यता क्या है? 

इस एग्जाम के लिए योग्यता 21 से 30 वर्ष तक के आयु होनी चाहिए, बिहार के किसी भी विश्वविद्यालय से स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी होनी चाहिए, उम्मीदवार बिहार राज्य का रहने वाला होना चाहिए आदि

बीपीएससी (बीपीएससी) के बाद क्या बनता है?

इस परीक्षा को पास करने के बाद बहुत से पदों के लिए उम्मीदवार को ज्वाइनिंग लेटर दिया जाता है इन पदों में ग्राम विकास अधिकारी, सहायक योजना अधिकारी,इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारी, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण आदि शामिल है।

बीपीएससी की तैयारी के लिए कितने महीने चाहिए?

इस परीक्षा में उम्मीदवार को तैयारी करने के लिए 6 से 8 महीने तक का वक्त लगना चाहिए हो सके तो 1 साल तक मेहनत जरूर करें। ताकि फर्स्ट अटेम्प्ट में भी बीपीएससी परीक्षा समल हो जाए।

निष्कर्ष : BPSC Full form in Hindi, बीपीएससी क्या है और इसकी तैयारी कैसे करें इन हिंदी - 

आज के लेख में बीपीएससी से संबंधित पूरी जानकारी के बारे में अपने जाना है अगर आप बिहार राज्य के रहने वाले है तो यह लेख आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण रहा होगा। इस लेख में BPSC ka full form और BPSC Exam के संबंधित ज्ञान आपको शेयर किया है।

हम उम्मीद करते है, आपको आज का लेख जो बीपीएससी फुल फॉर्म (BPSC Full form in Hindi) से संबंधित है इसे पढ़ने में बहुत मज़ा आया होगा, अगर आपको सही में यह लेख पसंद आया है तो कृपया इसे अपने मित्रों के साथ इस लेख को साझा जरूर करें।

Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url