DSP Full Form in Hindi (2022) : डीएसपी क्या है, पूर्ण प्रपत्र, वेतन और योग्यता

आज के लेख में DSP Full form in Hindi से संबंधित जानकारी के बारे में हम आपको बताएंगे। DSP क्या होता है.दोस्तों, आप में से अधिकतम लोग इस बारे में जानते ही होगे क्योंकि यह एक ऐसा पद है जो हर राज्य की पुलिस में पाया जाता है. यदि आप इस बारे में नहीं जानते तो चिंता करने की आवश्यकता नहीं है.

 क्योंकि आज के लेख में डीएसपी से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी के बारे में जानकारी साझा करेंगे जहां आप सभी डीएसपी का फुल फॉर्म क्या होता है? (Dsp full form in Hindi) डीएसपी कैसे बने? डीएसपी बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए, डीएसपी का क्या कार्य होता है, डीएसपी बनने के लिए कौन सा एग्जाम देना होता है, Dsp Meaning इन सभी सवालों के जवाब आज के लेख में हम देने वाले हैं.
Dsp ka Full form, dsp full form, dsp Full form in Hindi
इसलिए लेख को शुरू करने से पहले आप लोगों से बस इतने ही निवेदन है कि यदि आप पुलिस विभाग में डीएसपी का पद हासिल करना चाहते हैं, तो कृपया करके इस छोटी सी जानकारी को जरूर जान लें क्योंकि ऐसी जानकारी आपके काम आ सकती है.

तो चलिए बिना देरी किए DSP ka full form और डीएसपी से संबंधित जानकारी के बारे में जानते हैं.

DSP Full form in Hindi - पुलिस में डीएसपी का फुल फॉर्म क्या होता है?

DSP का full form - Deputy Superintendent of Police होता है. और हिंदी में डीएसपी का फुल फॉर्म और पूरा नाम पुलिस उपाधीक्षक होता हैं. यह पुलिस विभाग का उच्च प्रोफ़ाइल अधिकारी होता है। जो हर राज्य में कानून से संबंधित कार्रवाई करता है.

 क्योंकि सरकार की तरफ से डिप्टी सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस को बहुत से अधिकार प्राप्त होते हैं। जिसका उपयोग कानून व्यवस्था को ठीक करने के लिए डीएसपी ऑफिसर करता है.

DSP kya Hota hai - डीएसपी का मतलब क्या है हिंदी में

डीएसपी Officer एक उच्च प्रोफ़ाइल अधिकारी होता है जो हर राज्य में अपनी सेवा कानूनी रूप में लोगों को देता है, बहुत से लोग डीएसपी बनना चाहते हैं पर डीएसपी क्या होता है इन हिंदी और DSP Officer कैसे बने? इस बारे में उन्हें थोड़ी भी जानकारी नहीं है पर फिर भी उन्हें डीएसपी ऑफिसर बनना है अगर आप भी अपने राज्य का डीएसपी अधिकारी बनना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अपने State का PCS Exam पास करना होगा.

State Pcs Exam हर साल राज्य की सरकार द्वारा आयोजित किया जाता है ताकि राज्य के निवासी इन्ही  सभी पदों के लिए आवेदन कर सके, और अपना सपना पूरा कर सकें. यदि आप उत्तरप्रदेश के रहने वाले हैं तो आपको UPSC Exam को पास करना होगा.

NOTE :- राज्य लोक सेवा यह परीक्षा हर साल आयोजित करवाती है. इस परीक्षा को देने वाले उम्मीदवार की संख्या लाखों से भी ज्यादा होते हैं, एक जरूरी बात जो आपको जरूर जानी चाहिए यदि आप Bihar के रहने वाले हैं तो आप Uttarakhand, Uttarpradesh के लिए परीक्षा नहीं दे सकते क्योंकि आपके ऐसा करने से आप इस PCS Exam के योग्य नहीं रहेंगे. इसलिए अपने ही राज्य के पीसीएस एग्जाम को दे.

डीएसपी कैसे बने ( Dsp Officer kaise bane in Hindi) 

डीएसपी बनने के लिए आपके पास बहुत से रास्ते हैं पर मुख्य रास्ते दो ही हैं, पहला अपने राज्य की पुलिस में शामिल होकर और दूसरा सीधा परीक्षा देखकर, अगर आप पहले रास्ते को चुनते हैं तो इस रास्ते में आपको काफी लंबा सफर तय करना होगा जिसके बाद ही आपके यह पद मिलेगा.

क्योंकि इस रास्ते में पहले तो आप राज्य की पुलिस में शामिल होगे फिर धीरे-धीरे आपकी प्रमोशन होगी जिसमें 20 से 25 साल का समय लग सकता है पर अगर आप दूसरे रास्ते को चुनते हैं जिसमें सीधा परीक्षा देखकर डीएसपी पद हासिल कर सकते हैं तो यह अच्छा विकल्प हो सकता है आपके लिए, परीक्षा देने के लिए अपने राज्य की pcs परीक्षा को देना होगा इस एग्जाम में preliminary examination, Main Exam और Interview शामिल है.

डीएसपी ऑफिसर के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए - 

डीएसपी ऑफिसर बनने के लिए उम्मीदवार में कुछ योग्यता होनी चाहिए जिसके बाद ही वह अपने राज्य के पीसीएस एग्जाम में बैठ सकता है.

  • उम्मीदवार किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी होनी चाहिए
  • उम्मीदवार की सिर्फ स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी होनी चाहिए आपके कितने मार्क्स हैं और कितने नहीं है इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है.
  • किसी भी सिविल सर्विस के आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के विशेष ज्यादातर आर्ट्स ही होते हैं, पर इसके लिए यदि आप b.com, Bba, bca के विद्यार्थी हैं तो भी आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं.

डीएसपी ऑफिसर के लिए आयु सीमा - 

किसी भी पीसीएस एग्जाम को देने के लिए उम्मीदवार की आयु सीमा 21 से 40 वर्ष तक होनी चाहिए पर यहां caste के लिए भी आयु सीमा निर्धारित की गई है जो कुछ इस प्रकार है.

  1. जनरल कैटेगरी वाले उम्मीदवारों की आयु सीमा 21 से 40 वर्ष तक की उम्र चाहिए
  2. अन्य पिछड़ा वर्ग वाले उम्मीदवार की आयु सीमा 21 से 45 वर्ष तक होनी चाहिए
  3. एसटी, एससी जाति वाले विद्यार्थियों की आयु सीमा 21 से 45 वर्ष.
  4. पीडब्ल्यूडी जाति के लिए 21 से 55 वर्ष होनी चाहिए.

इन सभी बातों को जानने के बाद यदि आपके मन में डीएसपी ऑफिसर बनने के लिए एग्जाम पैटर्न, शारीरिक स्वास्थ्य , मेडिकल हेल्थ आदि से संबंधित डर है तो आप को डरने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि इस बारे में हमने नीचे जानकारी दी है जिसे आप जान सकते हैं.

डीएसपी के लिए एग्जाम पैटर्न - 

किसी भी PCS Exam को देने के लिए उम्मीदवार को 3 चरणों से गुजरना होता है जिसमें पहला प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार शामिल है इन तीनों परीक्षा में सफल होने के बाद ही डीएसपी बना जा सकता है

preliminary examination - 

इस परीक्षा में उम्मीदवार से दो पेपर लिए जाते हैं जिसमें पहला सामान्य अध्ययन और दूसरा C-SAT Paper होते हैं.सामान्य अध्ययन पेपर में बहु विकल्पीय 150 प्रश्न होते हैं जिसे करने के लिए 2 घंटे का समय दिया जाता है इन प्रश्नों को हल करने के साथ यदि कोई विद्यार्थी प्रश्नों के गलत जवाब देता है तो इस परिस्थिति मैं नेगेटिव मार्किंग की की जाती है यह पेपर कूल 200 मार्क्स का होता है.

C-Sat paper मैं बहु विकल्पीय 100 प्रश्न होते हैं जिसे करने के लिए 2 घंटे का समय होता हैं, इस पेपर में भी नेगेटिव मार्किंग होते हैं जिसमे गलत जवाब देने पर 1/3 मार्क्स काट दिए जाते हैं.यह पेपर भी 200 मार्क्स का होता हैं यानि की एक सवाल 2 मार्क्स का.

Main exam ( मुख्य परीक्षा) - 

पहले चरण को पास करने के बाद कैंडिडेट दूसरे स्टेप की और जाते है यहाँ उसे मुख्य परीक्षा लिए जाता है.इस एग्जाम मे अनिवार्य विषय के अंतर्गत भारतीय भाषा 300 अंक,अंग्रेजी 300 अंक, निबंध 200 अंक, जनरल स्टडी 300 अंक की होती है।

इसे पास करने के बाद अंतिम चरण के लिए भुलाया  जाता हैं यहाँ अभ्यर्थी का साक्षात्कार लिया जाता है.

Interview - 

सामान्य अध्ययन और मुख्य परीक्षा पास करने के बाद interview लिया जाता है जिसके बाद की एक डीएसपी ऑफिसर चुना जाता है।

डीएसपी शारीरिक परीक्षण

पुरुषों के लिए शारीरिक योग्यता 168 cm Height और 86 cm chest होनी चाहिए.

महिला के लिए शारीरिक योग्यता 155 Cm height और शरीर का वजन 40kg तक होना चाहिए.

Note - ऊंचाई और छाती हर राज्य के अलग-अलग हो सकती है इसलिए इसे अधिकारी शारीरिक योग्यता न समझे.

डीएसपी के कार्य (DSP functions)

पुलिस उपाधीक्षक को ज़िला से संबंधित शांति अवस्था बनाए रखने के लिए जिम्मेदारी दी जाती है.

Dupty Superintendent of Police अपने क्षेत्र में सभी प्रकार की गतिविधियों पर नज़र रखता है ताकि किसी भी तरह का अपराध ना हो सके, और अपराध होने पर कानूनी कार्रवाई भी करता है.

त्योहार के समय में सब से ज्यादा जिम्मेदारी डीएसपी ऑफिसर को ही दी जाती है.

DSP की सैलरी कितनी होती हैं

राज्य में डीएसपी की सैलरी 78000 - 96000 तक हो सकते हैं जिसमे 1400 - 5100 तक का ग्रेड पे भी मिलता हैं.इसके साथ बहुत सी सुविधाएँ भी दी जाते हैं.

डीएसपी ऑफिसर के लिए क्या सुविधाएं होती हैं - 

दुपटी सुपरिन्टेन्डेन्ट ऑफ़ पुलिस को एक वाहन और एक वाहन को चलाने वाला ड्राइवर भी मिलता है.

सरकार द्वारा डीएसपी को फ्री बिल और फ्री मोबाइल रिचार्ज भी दिया जाता है.

डीएसपी के घर के लिए एक सिक्योरिटी गार्ड, एक माली, और कुछ नौकर भी सरकार द्वारा दिए जाते हैं.

निष्कर्ष : DSP Full form in Hindi ( आपने क्या सीखा लेख से) 

इस लेख में हमने आपको DSP का फुल फॉर्म क्या होता है और डीएसपी से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी के बारे में सरल भाषा में बताया है.

यहाँ आप लोगों ने DSP Full form in Hindi, Meaning, डीएसपी क्या होता है और कैसे बने?, Salary, work, योग्यता, आयु सीमा के बारे में पूरी जानकारी हासिल की है यदि आपका कोई सवाल डीएसपी से संबंधित है तो आप अपना सवाल Comment करके जरूर पूछ सकते हैं और यदि लेख पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर साझा करें.

ताकि आपका दोस्त भी Dsp ka Full form इससे संबंधित सभी जानकारी के बारे में जान सके लेख को पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद.
Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url